Rukh Se Pardaa Uthaa De Jraa Saakiyaa Hindi Lyrics रुख से पर्दा उठा दे जरा साकिया हिंदी लिरिक्स

Rukh Se Pardaa Uthaa De Jraa Saakiyaa Hindi Lyrics रुख से पर्दा उठा दे जरा साकिया हिंदी लिरिक्स वैसे तो हिंदी के नगमों में हिजाब के ऊपर बहुत से बेहतरीन गाने लिखे गए हैं,जिसमे खूबसूरत चेहरे के बारे में तारीफ की गयी हैं,

Anwar Mirjapuri  साहब की रुख से पर्दा उठा दे जरा साकिया गजल एक बहुत ही उम्दा ग़ज़ल हैं. इस गलज़ के कद्रदान बहुत हैं और अक्सर वह इस ग़ज़ल को सुन्ना बहुत पसंद करते हैं.

Rukh Se Pardaa Uthaa De Jraa Saakiyaa Hindi Lyrics रुख से पर्दा उठा दे जरा साकिया हिंदी लिरिक्स

ये ग़ज़ल जितनी पुरानी हैं उतनी ही आपको को सुनने में अच्छी लगेगी .इस ग़ज़ल के हिंदी बोल को देखने के लिए इस पोस्ट को पूरा पढ़े और जिन लोगो को हिजाब से जुड़े हुए वॉलपेपर चाहिए हो तो ,वह इस वेबसाइट पर लगातार आते रहे ,उन्हें उनकी जरुरत के हिसाब से अच्छे से अच्छे Wallpaper,Whats app DP,Status,Picture और Quotes आराम से मिल जायेंगे.

Rukh Se Pardaa Uthaa De Jraa Saakiyaa
Bas Abhi Rang-aye-mahfil Badal Jaayegaa
Hai Jo Behosh Vo Hosh Men Aayegaa
Girnevaalaa Hai Jo Vo Sambhal Jaayegaa

Tum Tasalli Naa Do Sirf Baithe Raho
Vkt Kuchh Mere Marne Kaa Tal Jaayegaa
Kyaa Ye Kam Hai Masihaa Ke Rahne Hi Se
Maut Kaa Bhi Eraadaa Badal Jaayegaa

Meraa Daaman To Jal Hi Chukaa Hai Mgar
Aanch Tum Par Bhi Aaye Ganvaaraa Nahin
Mere Aansu Naa Ponchho Khudaa Ke Liye
Varnaa Daaman Tumhaaraa Bhi Jal Jaayegaa

Rukh Se Pardaa Uthaa De Jraa Saakiyaa Hindi Lyrics रुख से पर्दा उठा दे जरा साकिया हिंदी लिरिक्स

Teer Ki Jaan Hain Dil, Dil Ki Jaan Teer Hain
Tir Ko Naa Yun Khincho Kahaa Maan Lo
Tir Khinchaa To Dil Bhi Nikal Aayegaa
Dil Jo Niklaa To Dam Bhi Nikal Jaayegaa

Phul Kuchh Es Tarah Tod Ai Baagbaan
Shaakh Hilne Naa Paaye Naa Aavaaj Ho
Varnaa Gulashan Pe Raunak Naa Fir Aayegi
Har Kali Kaa Dil Jo Dahal Jaayegaa

Meri Friyaad Se Vo Tdap Jaayenge
Mere Dil Ko Malaal Eskaa Hogaa Magar
Kyaa Ye Kam Hai Vo Benkaab Aayenge
Marnevaale Kaa Armaan Nikal Jaayegaa

Eske Hnasne Men Rone Kaa Andaaj Hai
Khaak Udaane Men Friyaad Kaa Raaj Hai
Esko Chhedo Naa ‘anavar’ Khudaa Ke Liye
Varnaa Bimaar Kaa Dam Nikal Jaayegaa

Rukh Se Pardaa Uthaa De Jraa Saakiyaa Hindi Lyrics रुख से पर्दा उठा दे जरा साकिया हिंदी लिरिक्स

रुख़ से परदा उठा दे ज़रा साक़िया
बस अभी रंग-ए-महफ़िल बदल जायेगा
है जो बेहोश वो होश में आयेगा
गिरनेवाला है जो वो संभल जायेगा

तुम तसल्ली ना दो सिर्फ़ बैठे रहो
वक़्त कुछ मेरे मरने का टल जायेगा
क्या ये कम है मसीहा के रहने ही से
मौत का भी इरादा बदल जायेगा

मेरा दामन तो जल ही चुका है मग़र
आँच तुम पर भी आये गंवारा नहीं
मेरे आँसू ना पोंछो ख़ुदा के लिये
वरना दामन तुम्हारा भी जल जायेगा

तीर की जाँ है दिल, दिल की जाँ तीर है
तीर को ना यूँ खींचो कहा मान लो
तीर खींचा तो दिल भी निकल आयेगा
दिल जो निकला तो दम भी निकल जायेगा

फूल कुछ इस तरह तोड़ ऐ बाग़बाँ
शाख़ हिलने ना पाये ना आवाज़ हो
वरना गुलशन पे रौनक ना फ़िर आयेगी
हर कली का दिल जो दहल जायेगा

मेरी फ़रियाद से वो तड़प जायेंगे
मेरे दिल को मलाल इसका होगा मगर
क्या ये कम है वो बेनक़ाब आयेंगे
मरनेवाले का अरमाँ निकल जायेगा

इसके हँसने में रोने का अन्दाज़ है
ख़ाक उड़ाने में फ़रियाद का राज़ है
इसको छेड़ो ना ‘अनवर’ ख़ुदा के लिये
वरना बीमार का दम निकल जायेगा

Gujarati Snacks Easy Fafda Recipe You Loved It

KT Astrology News Navratri And Astrology 9 Days Of Changing Fortune

Success Mantra Your Limitation It’s Only Your Imagination Top Factors List

Csk Vs Kkr Match News IPL-13 Will Be The Longest Season In History

Bigsmall Gifts Idea To Promotional And Giveaways For Your Brand

Naat Sharif 2020 New Heart Touching Beautiful Naat Sharif Islam Sunnat

Apna Time Aayega Lyrics Ranveer Singh Gully Boy 2019

Dangerous Khiladi 3 Anger Tips-Threw These People Out Of Your Life

NDA Coaching News Indian Railways Is Ready For 23 Special Trains For NDA Exam

Sony Liv Kapil Sharma Show Rumors About Upasana Singh

Fancy Dress Competition How To Dress Sexy & Look Good

%d bloggers like this: